“संभाव्य” अन्तरराष्ट्रीय स्तर की हिंदी त्रैमासिक संभवतः विश्व की प्रथम निःशुल्क एवं विज्ञापनरहित पत्रिका है।   इस पत्रिका का उद्देश्य सृजन एवं साहित्यिक समीक्षा की प्रतिबद्धता के साथ-साथ आदर्शों एवं मूल्यों को विश्व के कण-कण और क्षण-क्षण में स्थापित करना है।
इस पत्रिका से जुडने के लिए न तो कोई सदस्यता शुल्क है और न ही पत्रिका का कोई मूल्य। इसका       ई-संस्करण विश्वग्राम के सभी पाठकों  के लिए निःशुल्क सुलभ है। मुद्रित संस्करण यथासंभव रचनाकारों और हिंदी के विकास के लिए समर्पित संस्था एवं संस्थानों को प्रेषित किया जाता है।